90+ Gangster Shayari in Hindi

Gangster Shayari in Hindi. अगर आप गैंगस्टर शायरी या माफिया शायरी के शौक़ीन है तो फिर आप सही जगह पर है | इस पोस्ट में आपको कई गैंगस्टर या माफिया शायरी पढने को मिल जायेगी | अगर आपका शौक शायरी तक ही सिमित है और आप सिर्फ एंटरटेनमेंट के लिए इन्हे पढ़ते है तो ठीक है | मेरी आपसे रिक्वेस्ट होगी की इन्हें कभी जीवन में अमल ना करें |

Gangster Shayari in Hindi

Gangster Shayari in Hindi

पीठ पीछे‌ कुत्ते की तरह भौंकने की आदत नही है
हम तो शेर की तरह सामने से दहाड़ना जानते है

माफिया के इस खेल में पक्का खिलाड़ी हूं
दुश्मनों के चेहरे पहले ही पढ़ लेता हूं

ज्यादा ‪स्मार्ट बनने की कोशिश मत कर पगले
क्योंकि मेरे ‪बाल‬ भी तेरे ‪औकात‬ से लंबे है

हथियार तो हम सिर्फ शौक के लिए रखते हैं
वरना खौफ पैदा करने के लिए तो बस हमारा नाम ही काफी है

Gangster Shayari in Hindi

हम भी नवाब है, लोगो की अकड़ धुएं की तरह उड़ाकर
औकात सिगरेट की तरह छोटी कर देते है

हम वो तालाब है जहाँ शेर भी आये तो
उसे भी सर झुका के पानी पीना पड़ता हैं

शेर को “जगह और वक़्त” से कुछ लेना-देना नहीं होता
शेर जिस वक़्त जहा भी होता है, वहा राजा ही होता है

दूसरों के शिकार को चाटने का काम गीदड़ करते हैं
मैं वो शेर हूँ जिसने जंगल में कदम रखा तो, कोई परिंदा पर मारने की हिम्मत नही करता

Gangster Shayari in Hindi 1

जो शेर की तरह दहाड़ते है
वो हमें नही जानते है

माफिया के भी सपने होते है
सोचते है लोगों से कैसे लिए बदले होते है

मत करो छेड़छाड़ मेरी ख़ामोशी से
तुम पर बहुत भारी पड़ेगा

दुनिया में चलती है माफियाओं की बात है
सत्ता का खेल उनका होता राज है

Gangster Shayari in Hindi

ये फ़िज़ूल की धमकियाँ हमें ना दे बेटा
क्योंकि कुत्तों के लश्कर से शेर कभी डरा नहीं करते

सिरफिरा लड़का हूँ मैं
ज़रुरत पड़ने पर हर किसी से भिड़ सकता हूँ

हमसे दुश्मनी करोगे तो
बेटा अकाल मृत्यु मरोगे

Gangster Shayari in Hindi

अगर बात भाइयों पर आए ना
तो शहर का श्मशान बना देंगे

लोगों को समझाने के लिए
हमारा एक ही इशारा काफी है

मैं अपने दुश्मनों को कुत्तों की तरह समझता हूँ
जब भी भौंकते है मैं रोटी डाल आता हूँ

हम हाथ किसी के सामने जोड़ते नही
ओर जो दुश्मनी करे मुझसे मां कसम उसे छोड़ते नही

Gangster Shayari in Hindi

लायक नहीं हु में नालायक हु में
तेरे जैसे भड़वे के लिए खलनायक हु में

बच के रहिए मेरे भाई
अगला शिकार तू ही है

दुश्मनी गलती से भी की
तो जान भी लेने के लिए तैयार हूँ

हमारे हौसले कौन रोक पाएगा, अगर कोई दुश्मन आएगा
तो आंखों से सिर्फ सावन बरसाएगा

कल से एक ही काम होगा
हमारा नाम और दुश्मन का काम तमाम होगा

Gangster Shayari in Hindi 5

शरीफों की बस्ती में हर किसी का नाम है
लेकिन हम जैसे गैंगस्टर हर जगह बदनाम है

बत्तमीजी दिखने वाले को
मै झेलता नहीं सीधे पेलता हूँ

जिंदगी के खेल में माफिया परिंदा है
अगर इनसे दुश्मनी ली तो कोई नही जिंदा है

लोगों के मन में बसते है सपने
माफियाओं के दिल में बसते है बदलें

सबको डर लगता है माफिया का हूं बादशाह
देखकर हमको कोई नही करता आह

Gangster Shayari in Hindi

साला मै कब का यमनगरी जाने को बेचैन हूँ
लेकिन यमराज कहते है, तू आने के लिये नही भेजने के लिये पैदा हुआ है

Gangster Shayari in Hindi

हम अपने जीवन में पैसों का हिसाब नही रखते है
मगर चेहरो का हिसाब जरूर रखते है

जो कल तक मुझे बदमाश कहती थी
आज वही मुझसे प्यार करती

अगर लड़ना हो तो मैदान में आना
तलवार भी तेरी होगी और गर्दन भी

खुद की हैसियत नही है नजरे मिलाने
की और बात करते हो डॉन बनने की

शरीफों की बस्ती में हर किसी का नाम है
लेकिन हम जैसे गैंगस्टर हर जगह बदनाम है

Gangster Shayari in Hindi 7

अकेला रहता हूँ नवाब की तरह
झुंड में रहकर कुत्ता बनने की आदत नहीं मेरी

दहशत बनाओ तो शेर जैसी बनाओ
क्योंकि डराना तो गली के कुत्ते भी जानते हैं

हम अपनी रियासत के राजा है
किसी की हैसियत देखकर हम सिर नहीं झुकाते

ज़िन्दगी अपनी है तो जीने का अंदाज भी
अपना ही होना चाहिए

अपुन की हर दुश्मन से जंग है
ऐसे ही थोड़ी अपनी बदमाशी दबंग है

Gangster Shayari in Hindi 8

जब एक बार हम चल दे तो फिर हमें रुकना नहीं आता
फिर कुछ भी हो जाए किसी के सामने झुकना नहीं आता

आवाज़ की बात मत कर मेरे सामने
लोग हमारे ख़ामोशी से ही डर जाते है

दोस्ती की तो दोस्ती पाओगे
अकड़ोगे तो पेले जाओगे

मान लिया कि तु शेर है पर जादा उछल मत
हम भी शिकारी है ठोक देंगें

हमारा नाम और काम दोनों इतने खतरनाक है
की नाम से लोग डरते है और काम से दुनिया

Gangster Shayari in Hindi

जब दुशमन पत्थर मारे तो, उसका जवाब फुल से दो
बस याद रखना की फुल,उसकी कबर पर होना चाहिये

Gangster Shayari in Hindi

अपनी हड्डिया बचा के रखनी है
तो मेर से बच के रहना बेटा

गेम का बदल देता हूं खास अंदाज
नही टिक सकता है कोई दगाबाज

जनाब हम थोड़े खामोश क्या हुए
दुनिया हमे बेवकूफ समझने लगी

मंजिलों को देखते है याद तुझे हर शाम ना करे
अब ऐसा कोई दुश्मन नही बचा जो हमे देखकर सलाम ना करे

बदमाशी दिखाई तो उठा लेंगे घर से
हमारी शख्शियत से तुम वाकिफ ही कहां हों

जहां देखो वहां माफियाओं का चलता राज
दरिया दिल तो नही बस रिवाल्वर होता है उनके पास

Gangster Shayari in Hindi

मुझे ही नहीं रहा शौक़ -ए मोहब्बत
वरना तेरे शहर की खिड़कियाँ इशारे अब भी करती हैं

कान खोलकर सुन ले छोरे हमसे ना ले पंगा
वरना हो जायेगा यहां सरेआम दंगा

हर किसी के हाथ में बिक जाने को हम तैयार नहीं
ये हमारा दिल है तेरे शहर का अख़बार नहीं

मान लिया कि तु शेर है पर जादा उछल मत
हम भी शिकारी है ठोक देंगें

पूरे शहर में नाम चलता है, फ़ोटो लगे हैं थाने मैं
शेर जैसा जिगरा चाहिऐ हमको हाथ लगाने मैं

Gangster Shayari in Hindi

मेरी बदमाशी मेरी निशानी है
आओ कभी हवेली पे अगर कोई परेशानी है

साले धूल उड़ा नहीं सकते और
हमें उड़ाने की बात करते हैं

किसी की औकात नही हमें गिराने की
फिर बेवजह कोशिश करता है हमें झुकाने की

Gangster Shayari in Hindi

पहले तेरी औकात देख
फिर मेरी औकात देख

हमारे साथ दोस्ती में सब कुछ जायज है
परंतु धोखा गलती से भी मत करना

Gangster Shayari in Hindi

हम क्यो डरे किसी से
हम तो पैदा ही शेरो की बस्ती मे हुए है

ग़लतफहमी में है बेटा के तेरा राज़ है
आके देख ले यहाँ कौन किसका बाप है

दुश्मनों को जलाने के लिए
हमारे तो जलवे ही काफी है

मत कोशिश करो मुझ जैसा बनने की
क्यूंकि शेर पैदा होते है बनाए नहीं जाते

हम तो तुम्हारी शक्ल देखकर
तुम्हारी औकात बता सकते हैं

हमारी शराफत का फायदा उठाना बंद कर दो
जिस दिन हम बदमाश बन गए क़यामत आ जायेगी

Gangster Shayari in Hindi 13

मेरी हिम्मत को परखने की गुस्ताखी न करना
पहले भी कई तूफानों का रुख मोड़ चुका हु

दुनिया जिस मुकाम पर झुकती है
हम वहां खड़े रहना पसंद करते हैं

किसी की औकात नही हमें गिराने की
फिर तू क्यों कोशिश करता है हमें झुकाने की

ऐरे गैरे लोगों से हम डरते नहीं
लड़की चाहे कैसी भी हो किसी पर मरते नहीं

हम बंदूक के ट्रिगर पे नहीँ
बल्की खुद के जीगर पे जीते हैं

लड़की की हंसी और कुते की ख़ामोशी
पर कभी भरोसा नहीं करना चाहिए

Gangster Shayari in Hindi

कुछ लोग सही तो कुछ खराब कहते है
हमें जुर्म की दुनिया का नवाब कहते है

Gangster Shayari in Hindi

कुछ लोग मिलके कर रहे है मेरी बुराई
तुम बेटे इतने सारे और मै अकेला मचा रहा हूँ तबाही

हमारे जिने का तरीका थोड़ा अलग है
हम उम्मीद पर नहीं अपनी जिद पर जिते हैं

गली के कुत्ते पहले भोकते हैं फिर काटने लगते हैं
अगर कुछ काम होगा तो चाटने लगते हैं

किसी से जलना हमारी आदत नहीं
हम खुद की काबिलियत से लोगो को जलाते है

सिर्फ उम्र ही छोटी है
जजबा तो दुनिया को मुठ्ठी में करने का रखते है

Gangster Shayari in Hindi 15

झुण्ड की जरूरत तो कमजोरो को पड़ती है
तबाही मचाने के लिए तो मुझ जैसा एक शेर ही काफी है

मुझे हरा कर कोई मेरी जान भी ले जाए मुझे मंजूर है
लेकिन धोखा देने वालो को मै दोबारा मौका नहीं देता

न ही तो गाडी है न ही तो बुलेट और न ही कोई हथियार है
सीने में मेरा जिगरा और दुसरे मेरे जिगरी यार है

जिगर वालों को डर से कोई वास्ता नहीं होता
हम कदम भी वही रखते हैं,जहां कोई रास्ता नहीं होता

अपना भला कौन क्या बिगाड़ेेगा
अपनी तो किस्मत उसने लिखी है, जिसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता

Gangster Shayari in Hindi

रेस वो लोग लगाते है जिन्हें अपनी किस्मत आजमानी हो
हम तो वो खिलाड़ी है जो अपनी किस्मत के साथ खेलते हैं

अपना तो एक ही तरीका है यारो, मांगों उसी से जो दे ख़ुशी से
और जो न दे ख़ुशी से तो छीन लो उसी से

इन्कार है जिन्हे आज मुझसे मेरा वक्त देखकर
मै खूद को इतना काबील बनाउंगा वो मिलेंगे मूझसे वक्त लेकर

बड़ी से बड़ी हस्ती मिट गयी मुझे झुकाने मे
बेटा तू तो कोशिश भी मत करना, तेरी उम्र गुजर जायगी मुझे गिराने मे

मौत से न कभी डरता था न कभी डरूगा
मैं तो अपने दोस्तो के लिए जीता था, जी रहा हूँ, और जिऊगा रहूंगा

सबने हमें अपनी अपनी औकात दिखाई है
अब औकात दिखाने की बारी हमारी आई है

भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं हैं मेरा
बल्कि भीड़ जिसके लिए खड़ी हो वो बनना है मुझे

Gangster Shayari in Hindi

Leave a Comment

1 Shares
Copy link
Powered by Social Snap